Apne Blog Me Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

4

Last Updated on

Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.: हेलो दोस्तों अपने पोस्ट को Google , Yahoo और बिंग जैसे Search Engine में First Page पर लाने के लिए हमे Seo Friendly Blog Post लिखने की जरुरत होती है. जो कि हमारे पोस्ट में क्या है. ये Google की Bots को आसानी से समझ में आ जाता है. अगर आप कभी भी Google में कुछ Search करते है.

जैसे: “Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe” जैसे ही आप ये Keyword को Google में Search करते है. तो आपके सामने कई सारे Blog Result दिखाई देता है. जिसमे आप देखेंगे की जो Blog Post Google की First Page पे show करता है. इसका मतलब है. की उस Blog में Seo Friendly Blog Post लिखे होते है.

और उसको अच्छी तरीके से Optimization किया होता है. तो आज हम आपको इस Post में ये बताएँगे की आप अपने Blog पोस्ट को किस तरह से Seo Friendly बना सकते है. तो चलिए जानते है. Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

Apne Blog Me Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

दोस्तों अगर आप एक Blogger है तो आपको अच्छी तरह से पता होगा कि हमे अपने Blog Post को rank करवाने के लिए Blog Post को Seo Friendly होना बेहद जरुरी होता है. हम कोई भी पोस्ट लिखते है. तो उसमे हमे काफी सारी बातों को ध्यान रखना होता है. जिससे की हम अपने पोस्ट को Google में Rank करा सके.

हमे Seo के आलावा भी कुछ ऐसे बात है. जिसे हमे ध्यान रखना परता है. Google या किसी Search Engine में अपना Blog Post को Rank करने के लिए।  जैसे :

High Quality Content : जब हमारे Post में Quality Content की बात आती है. तो कुछ चीज़ें (Points) है. जिसे हमे ध्यान रखना बहुत जरुरी है.

Informative

  • Informative का मतलब है. की आपने जो Blog Post को लिखा है. उस पोस्ट पे जो भी Vistor आये तो उसे लाभ मिले।
  • हमेशा याद रखें की जो भी पोस्ट आप लिखें है. उसमे सही जानकारी होनी चाहिए।
  • आप अपने पोस्ट में कुछ भी ऐसा न लिखे की आपके Visitor पे गलत प्रभाव पड़े।
  • जिस भी टॉपिक के ऊपर आप Blog लिख रहे है. तो आप कोशिस करें की आप उसमे Proof के साथ Post लिखे।
  • आपने जो पोस्ट लिखा है. उसके Releted Image या Video जरूर यूज़ करें।

Easy To understand.

  • आप हमेशा याद रखें की आपका Blog चाहे कोई भी भाषा में हो. पोस्ट को लिखते समय साधारण शब्द (Simple Word) का इस्तेमाल करें।
  • कोई भी visitor आपके Blog पे तभी आते जब उसे सही जानकारी मिलते है. और वो अपने सवालों के जवाब ढूंढने आते है.
  • आप हमेशा ये कोशिस करें की आप जितना Simple Word लिख सकते है. उतना Simple Word लिखे इससे आपको काफी benefit होगा।

Number Of Searchs.

  1. जब आप किसी Topic के बारे पे लिखना चाहते हो, तो उससे पहले आप उस Topic के बारे में Reasearch जरूर करें। ताकि आपको पता चल पाए की इस Topic को कितना Search किया जा रहा है.
  2. यदि आप कोई ऐसा Topic पे Blog Post लिख देते है. जिसके बारे में कोई search नहीं करता है. तो अगर आपका पोस्ट Google की first page पे भी आ रहा है. तो उससे आपको कोई फायदा नहीं होने वाला क्यूंकि उसको कोई search  करता है.
  3. आप अपने search number को जानने के लिए Google Adworlds का उपयोग कर सकते है.
  4. आप search number जानने के लिए Google Adworlds के आलावा Webmaster Tool का उपयोग कर सकते है.

Bid Rate 

  1. अगर आप एक Blogger है. और आप अपने ब्लॉग  Adsense  की ad लगाकर Income करते है. तो आप हमेशा जिस भी Keyword पे पोस्ट लिख रहे हो तो पहले उस keyword का Bid Rate जरूर Check करें।
  2. अगर आपके keyword का Bid Rate कम है तो आपका Income कम होगा।
  3. आप हमेशा याद रखें की हिंदी Blog की तुलना में English Blog की Income ज्यादा होता है.
  4. यदि आपका Blog हिंदी भाषा में है. तो आपको हमेशा ज्यादा मेहनत करना होगा।

Keyword Density 

जब भी कोई पोस्ट लिखते है. उस पोस्ट में आप word का जिक्र कई बार करते है. आप अपने पोस्ट में कई बार Keyword का यूज करते है. जिस Topic पे आप अपने पोस्ट लिख रहे होते है. तो आप जितने बार अपने पोस्ट में Keyword को use करते है. उसके हिसाब से Keyword Denisity बढ़ता रहता है. इसी को Leyword Denisity कहते है. उदहारण के लिए आपको बताये तो।

जैसे : आपने एक पोस्ट 2500 word का लिखा और आपने उसमे 50 बार अपने Keyword को दोहराया तो इसके हिसाब से इस पोस्ट का Keyword Denisity 2.5 % होगा Seo को ध्यान में रखते हुए आप हमेशा Post लिखते समय Keyword Denisity को 2.5 % से 3% तक रखे अगर आप ज्यादा रखते है. तो Google आपके पोस्ट को Drank कर सकते है।

Keyword Proximitry 

अगर आप कोई भी पोस्ट लिखते है. तो आप keyword की बिच की Destince को keyword Proximitry कहते है. जब आप पोस्ट के अंदर कई बार Keyword को यूज करते है. तो वो सारे Google के द्वारा Crawl किये जाते है.

उदहारण : यदि कोई व्यक्ति Search करता है. “How To Create Free Website ” तो Google उसके सामने “How To And Create free Wbsite ” का Result Show करता है. जो की इन सभी का Exact Keyword ये है ” Create Free Website ” तो इसमें Free Website और create के बिच जो दुरी होती है. उसे Keyword Proximitry कहते है.

Keyword Prominence 

Keyword Prominence : जब आप किसी पोस्ट को लिखते है. तो Keyword को कहाँ लिखा जाये इसका ध्यान जरूर रखें। अगर आप Keyword को गलत जगह पे यूज करते है तो. आपका Traffic बढ़ने के बजाये और घट ही जायेगा। दोस्तों आपको बेसिक रूल पता चल गया होगा। अब हम बात कर लेते है कि Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

दोस्तों आप कोई भी पोस्ट लिखने से पहले उसके बारे में अच्छी तरह से सोच ले की आपको क्या लिखना है. और कैसे लिखना है. लिखने की सुरुवात कहा से करें।  इसके लिए आप पहले ही एक Stucture तैयार कर लें।  क्यूंकि कोई भी पोस्ट लिखते है. तो उसके कई सारे पार्ट होते है जैसे:

  1. Heading
  2. Permalinks
  3. Description
  4. Keyword
  5. Main Body
  6. Tags
  7. Internal Linking
  8. Out Bond Links
  9. Image Alt Text
  10. ConClusion

Heading: पोस्ट की Title को हमेशा Catchy रखें।

Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

Permalinks: हमेशा अपने पोस्ट का Permalikns को Keyword के हिसाब से रखें।

Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

Description: SERP में Description ही दिखाया जाता है. कभी भी Search Engine का Bots सिर्फ Description को ही ज्यादा तर Read करते  है.

Seo Friendly Blog Post Kaise Likhe.

Keyword : अपने पोस्ट में Keyword का Use सही जगह पे करें।

introduction: आप अपने पोस्ट में पहला Pragraph के अंदर आप इस पोस्ट में क्या बताने वाले है. Clear लिखे।

Tags : हमेशा आप अपने पोस्ट में Tags का Use करते समय पोस्ट का Title और पोस्ट Content का ध्यान रखें।

Main Body : इसका मतलब है. जिसके अंदर आपको पूरा पोस्ट लिखना है.

Internal Linking : ये ऐसे Links होते है. जो की आपने इससे Realeted कोई पोस्ट लिखे है तो इसका link देना।

Outbond Links : इसका मतलब है की आप अपने पोस्ट में आप अपने पोस्ट से reletiv किसी दूसरे website को links करना।

Conclusion: आप अपने पोस्ट के अंत में अपने पोस्ट का सारांश जरूर लिखें।

Paragraph

कई paragraph में post Writing का कम करना चाहिए. जैसा की ऊपर बता चूका हूँ Introduction, Main Body और Conclusion. Introduction में Blog Post Title में जो कुछ भी लिखा गया है उसे Short में समझाएं. Starting का तरीका कुछ ऐसा हो जिसे पढने से user का interest बढ़ जाये. ऐसा करने से bounce rate कम हो जाता है जिससे SEO पर अच्छा असर पड़ता है.

Long Tail Keyword

किसी भी Content में एक या दो Longtail keyword जरूर focus करें. एक post में कई Keyword को Target बिलकुल भी नहीं करें. ऐसा करने से किसी भी keyword पर Rank नहीं मिलेगा. user ज्यादातर long tail keyword Search करते हैं. यदि सही से keyword Target कर post लिखोगे तो Result बहुत अच्छा मिलेगा.

सभी Post में maximum 2 Keyword ही Target कर post लिखें. जो भी user long tail keyword search कर आपके website तक आते हैं वो site पर time देते हैं. जिससे Site की Avg Time Increase होती है.

Keyword का इस्तेमाल genuine तरीके से करना चाहिए. User या Search Engine को ऐसा नहीं लगना चाहिए कि by forced Use किया गया है.

Target Main Keyword

Main Keyword को Post के specific Part में जरूर add करें. Main Part में Add करने से Search Engine जल्दी Crawl करता है. जिससे Post को Rank करना आसान हो जाता है.

  • Title
  • Header & Body
  • URL
  • Meta Description

इन सभी जगहों पर main keyword जरूर use करें. नीचे Screen Short में Example देख सकते हैं.

Responsive

Blog Responsive होना चाहिए. आज के समय सबसे ज्यादा mobile users हैं. Mobile में blog का Design नहीं दिखता है. इसीलिए Design से ज्यादा Content और Page Speed पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है. WordPress की लगभग सभी Themes responsive है कुछ में इस Feature को Enable करना पड़ता है.

Keyword Research

New Blogger या Website Owner जब भी किसी टॉपिक पर आर्टिकल लिखते है तो वो कीवर्ड research नही करते हैं. अपने मन से कोई भी Keyword पर Post लिख देते हैं.

keyword के analysis से उन्हें कोई मतलब नहीं है. जिस कीवर्ड पर post लिखते हैं, उसका Traffic या Competition कितना है इससे कोई मतलब नहीं है.

जब भी किसी Keyword पर काम करना शुरू करो तो पहले उस keyword को अच्छे से analyze करें कीवर्ड पर ट्रैफिक और competition कितना है.

Competition जितना low होगा उतनी जल्दी साईट search इंजन के फर्स्ट पेज पर आएगी. Competition low होने के साथ – साथ Searches भी होने चाहिए.

कीवर्ड रिसर्च के लिए कई tools हैं, लेकिन सबसे अच्छा और free tool गूगल का keyword planner tool है.

SEO Friendly Blog Title

SEO Friendly Blog post लिखने के लिए अच्छा सा Catchy Title लिखना होगा. क्योंकि विजिटर सबसे पहले Title ही पढता है.

आर्टिकल लिखने से पहले Catchy Tittle लिखने की कोशिश करें. Title में main keyword जरूर use करें. First Impression is Last Impression इसे हमेशा याद रखें.

Blog URL

पोस्ट URLs भी आर्टिकल की रैंकिंग को इम्प्रूव करने में काफ़ी मदद करता है. SEO friendly blog url बनाने के लिए में  कुछ Tips जरूर follow करें. इसकी शुरुआत Domain Name ही हो जाती है. साईट के लिए छोटा और आसानी से याद रहने लायक Domain Name ही register करें. URL में focus Keyword वो भी सिर्फ एक बार ही use करें.

इस Post का target Keyword अब तक पता चल गया होगा. इसे Comment Box में बता सकते हो.
Some Examples :
Good URL : www.techtrickonline.com/seo-friendly-blog-post/ (Only Keyword)
Bad URL : www.techtrickonline.com/seo-friendly-blog-post-kaise-likh/ (Keyword and extra word)
Bad URL : www.techtrickonline.com/p?786=? (Number)
Bad URL : www.techtrickonline.com/seofriendlyblogpost/(meaning less word)
Use SEO Plugin

SEO की बहुत सारी plugin है जिसे install कर सकते हो

इस Site पर All in One SEO Plugin Install है.

Internal Linking

Internal linking एक Best SEO Practice है. यह वेबसाइट और विजिटर दोनों के लिए बहुत ही उपयोगी है. इंटरनल लिंकिंग से 2 (Two) फ़ायदे हैं. साईट का Bounce Rate कम होता है. साईट का Pageviews Increase होता है. ऐसे links जो Same Website के एक page को दुसरे page से link करता है और इस process को internal linking कहा जाता है. Interlinking से Bounce Rate घटता है. User Engagement बढ़ता है. Interlinking हमेशा Anchor Text से करें इससे Ranking में फायदा मिलता है. Internal Linking का best example विकिपीडिया है.

Title Tag & Description

Title Tag ही Search Engine में दिखता है. आम तौर पर bloggers end में Title Tag और description लिखते हैं. जबकि हमलोगों को पहले Title tag और Description लिखने के लिए guide किया जाता है. Title tag में 60 Characters ही use कर सकते हो इससे ज्यादा search रिजल्ट में नहीं दिखता है. Description में 160 Characters तक ही use कर सकते हो. Title और Description में main keyword जरुर add करें.

ये भी पढ़ें: 

Use Multimedia

जिस तरह गूगल सर्च से साईट पर ट्रैफिक मिलता है उसी तरह google Images search से भी ट्रैफिक मिल सकता है. अगर विजिटर को ब्लॉग पर ज्यादा समय तक रोकना चाहते हो तो multimedia यूज़ करना चाहिए. मल्टीमीडिया का मतलब Related Images और Videos से है.

Conclusion

ऊपर लिखी गई सभी जानकारी बहुत आसान है. इसका सही इस्तेमाल करने से Google Search Engine के First page पर बहुत आसानी से rank किया जा सकता है. किसी भी Blog या Website को Rank कराने के लिए पहले किसी एक Keyword को Target कर ही Post लिखें. एक साथ कई Keyword Target कर Post Publish करने से किसी भी Keyword पर Blog Rank नहीं करता है. जिस किसी भी Topic से शुरुआत करें उस पर Competition Low होना चाहिए. Competition High या Medium रहने से Rank करना ज्यादा मुश्किल हो जाता है. जब किसी एक Keyword पर Blog Rank करने से लगे तब उससे मिलते जुलते Topic या Webmaster Tool से Keyword Research कर post Publish करें.

4 COMMENTS

Comments are closed.